Being Human, Emotional Affair, Ladies Special, Social issues, Thought For the Day, Uncategorized

गालियां मां-बहन को क्यों दी जाती हैं? बाप-भाई को क्यों नहीं? why do people give gaali on maa-behen?

आपने अपने आसपास जब भी किसी को गाली देते हुए सुना होगा, तो उसमें मां-बहन की गालियां न हों ऐसा तो हो ही नहीं सकता। हैरत की बात तो ये है कि ख़ुद महिलाएं भी धड़ल्ले से मां-बहन की गालियां देती हैं।

आख़िर गालियों के लिए महिलाओं और उनके प्राइवेट पार्ट को क्यों टारगेट किया जाता है? गाली देने वाले इंसान ने सामने वाले कि मां-बहन को भले ही कभी देखा तक न हो, फिर भी वो बिना किसी दोष ले उसकी अभद्र गालियों की शिकार बनती हैं।

क्या किसी भी इंसान या परिवार की इज़्ज़त सिर्फ महिलाओं के प्राइवेट पार्ट तक हो सीमित है? क्या परिवार की इज़्ज़त का ठेका सिर्फ महिलाओं ने ही लिया हुआ है? क्या पुरुषों से घर की इज़्ज़त नहीं होती? यदि यही गालियां बाप-भाई में बदल जाए तो? फिर बिना किसी ग़लती के किसी की मां-बहन को गाली क्यों दी जाए? गालियां देना कोई बहादुरी का काम नहीं है और गुस्से में किसी की मां-बहन को गाली देना तो सरासर कायरता है।

वो सुबह कभी तो आएगी
जब मां-बहन गालियों से मुक्त हो जाएंगी

2 thoughts on “गालियां मां-बहन को क्यों दी जाती हैं? बाप-भाई को क्यों नहीं? why do people give gaali on maa-behen?”

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s