Being Woman, Emotional Story, Inspirational, Ladies Special, Motivational, Social issues

स्तन टैक्स पर बनी शॉर्ट फिल्म ‘मुलकरम- स्तन कर’ हर महिला को देखनी चाहिए (Short Film On Breast Tax ‘Mulkaram- The Breast tax’ Every Woman Should See)

शॉर्ट फिल्म ‘मुलकरम- स्तन कर” (Mulkaram- The Breast tax) सत्य घटनाओं पर आधारित है. योगेश पगारे की ये फिल्म बहुत तेज़ी से वायरल हो रही है. इस फिल्म में बताया गया है कि जातिवाद के नाम पर उस समय महिलाओं का किस क़दर शोषण किया जाता था.

ये है फिल्म मुलकरम- स्तन कर’ की कहानी
19वीं शताब्दी की शुरुआत में केरल (भारत) में निचली जाति की महिलाओं को अपना स्तन ढंकने की अनुमति नहीं थी. यदि ये महिलाएं ऊंची जाति की महिलाओं की तरह स्तन ढंकने का दुस्साहस करती थीं, तो उन्हें ‘मुलकरम’ यानी स्तन कर (ब्रेस्ट टैक्स) देना पड़ता था.

बहादुर महिला ‘नांगेली’ ने दिलाया महिलाओं को न्याय
दिल को छू लेने वाली ये सच्ची कहानी एक बहादुर महिला ‘नांगेली’ की है, जिसने इस अमानवीय स्तन कर यानी ब्रेस्ट टैक्स के ख़िलाफ़ आवाज उठाई. ‘नांगेली’ ने इस कुप्रथा का विरोध करते हुए अपने स्तन ढंकने शुरू कर दिए. बहुत जल्दी ही ये बात फैल गई और ‘नांगेली’ के घर पर स्तन कर का फ़रमान आ गया, लेकिन बहादुर ‘नांगेली’ हार मानने वालों में कहां थी. ‘नांगेली’ ने एक बार फिर इस कुप्रथा का विरोध किया और स्तन ढंकने के अपने तथाकथित जुर्म के कर (टैक्स) के रूप में अपने स्तन काटकर दे दिए.

इतिहास से नदारद है बहादुर ‘नांगेली’ का बलिदान
‘नांगेली’ के इस बलिदान के कारण ही ‘स्तन कर’ हमेशा के लिए ख़त्म हो गया. हालांकि इतिहास के पन्नों पर बहादुर ‘नांगेली का ज़िक्र कम ही मिलता है, लेकिन जब भी हम महिला सशक्तिकरण की बात करें, तो हमें महिलाओं के अधिकार के लिए अपनी ज़िंदगी कुर्बान कर देने वाली बहादुर महिला ‘नांगेली’ का ज़िक्र करना नहीं भूलना चाहिए.

भारतीय महिलाओं के इतिहास और उनके साथ होने वाले अत्याचार, शोषण, अमानवीय व्यवहार पर इतनी सटीक और भावुक शॉर्ट फिल्म बनाने के लिए ढेर सारी बधाई और शुभकामनाएं योगेश पगारे! आप से आगे भी ऐसे ही बेहतरीन काम की उम्मीद रहेगी.

आप भी देखिए तेज़ी से वायरल हो रही योगेश पगारे की ऑफीशियल शॉर्ट फिल्म ‘मुलकरम- स्तन कर’ (Mulkaram- The Breast tax)
https://youtu.be/Bg0h7XM_7zA