Entertainment, fiction, Hindi Kahani, kahani, Katha-Kahani, Social issues, Storybazi

‘पासबान ए अदब’ में शानदार ‘स्टोरीबाज़ी’ की ‘अनुभूति’ (Pasbaan-E-Adab Anubhuti- Hindi Poetry Festival)

'पासबान ए अदब' में शानदार 'स्टोरीबाज़ी' की 'अनुभूति' इसलिए ख़ास है Divya Prakash Dubey की स्टोरीबाज़ी कल (3 नवंबर 2019) मुंबई के सोफिया कॉलेज में 'पासबान ए अदब' द्वारा हिंदी साहित्य उत्सव 'अनुभूति' का आयोजन किया गया, जिसमें दिव्य प्रकाश दुबे की स्टोरीबाज़ी सुनी... हर कहानी पर युवाओं ने जमकर तालियां बजाईं... नई वाली हिंदी… Continue reading ‘पासबान ए अदब’ में शानदार ‘स्टोरीबाज़ी’ की ‘अनुभूति’ (Pasbaan-E-Adab Anubhuti- Hindi Poetry Festival)

Being Woman, Emotional Story, fiction, Hindi Kahani, Inspirational, kahani, Katha-Kahani, Ladies Special

कहानी- औरत ही रहने दो (Short Story- Aurat Hi Rahne Do)

“रश्मि, ये कहां लिखा है कि औरत कमज़ोर होती है? जब सृजन का दायित्व ही औरत के कंधों पर है, तो वो कमज़ोर कहां से हुई? हर बच्चा अपनी मां के संरक्षण और उसकी देखरेख में बड़ा होता है, फिर चाहे वो स्त्री हो या पुरुष, फिर औरत कमज़ोर कैसे हुई? ये औरतों की अपनी… Continue reading कहानी- औरत ही रहने दो (Short Story- Aurat Hi Rahne Do)

Emotional Story, fiction, Hindi Kahani, kahani, Katha-Kahani

कहानी- माफ़ करना शिखा! (Short Story- Maaf Karna Shikha!)

‘तुम नहीं जानती शिखा, तुम्हें खोने के एहसास ने मुझे किस क़दर झकझोर कर रख दिया था. अगर तुम्हें कुछ हो जाता, तो शायद मैं ख़ुद को कभी माफ़ न कर पाता. माफी के क़ाबिल तो मैं अब भी नहीं हूं, लेकिन तुम साथ हो, तो कम से कम अपने पापों का पश्‍चाताप तो कर… Continue reading कहानी- माफ़ करना शिखा! (Short Story- Maaf Karna Shikha!)